भारत में कमाए 44 हजार करोड़ 2 दिन में Avengers : Infinity War

डायरेक्टर- एंटोनी रुसो, जो रुसो

 

एक्टर्सः  रॉबर्ट डाउनी जूनियर क्रिस इवान, थॉर क्रिस हेम्सवर्थ ,हल्क माक्क रफेलो, ब्लैक वीडो स्कार्लेट जॉनसन, बैनेडिक्च  कंबरबैच, स्पाइडर मैन टॉम ओलांद, पॉल बैटेनी, जो सैंलडेना , कैरेन गिलैन, क्रिस प्रैट, टॉम हिडलसन. इस लिस्ट में और भी कई नाम शामिल हैं.

‘There was an idea..To bring together , so when they (world) needed us, we could fight the battles’  एवेंजर्स: इनफिनिटी वॉर के ट्रेलर का ये डायलॉग ही इस  2 घंटे 40 मिनट की  फिल्म का सार है.  इनफिनिटी वॉर मार्वल सिनेमेटिक स्टूडियो की 19वीं और एवेंजर्स सीरीज की तीसरी फिल्म है. इस फिल्म के साथ  अब तक की सबसे लंबी मार्वल फिल्म होने का खिताब भी जुड़ गया है.  एवेंजर्स का नाम आते ही ज़ेहन में बेहतरीन फाइट सीक्वेंस, निक फ्यूरी , कैप्टन, अमेरिका , आयरन मैन, हल्क  आते हैं , लेकिन इस  एवेंजर्स: इनफिनिटी वॉर में मार्वल के 20 बड़े कैरेक्टर एक साथ नजर आए है.  ये सभी दुनिया को बचाने की कोशिश में लगे हैं लेकिन इस बार मार्वल की दुनिया की सबसे बड़ी लड़ाई में ये काम इन सुपरहीरोज़ के लिए बहुत मुश्किल है.  इसबार इस सुपरहीरो कहानी में ये भी दिखाने की कोशिश की गई है कि कैसे सुपरहीरोज़ रिश्तों के आगे मजबूर होते हैं, ऐसे में दुनिया और अपने रिश्ते दोनों में से एक को बचाने की स्थिति में वो भी हमारी-आपकी तरह कमजोर पड़ते हैं.  रुसो बदर्स ( एंटोनी रुसो, जो रुसो) ने  इस फिल्म में पूरी मार्वल फैमिली को जुटाया है और सभी कैरेक्टर्स को इतने सीन दिए हैं कि उनकी प्रजेंस आप मिस नहीं करते यानी एक डायरेक्टर के तौर पर इतने सारे कैरेक्टर्स  को जरुरी स्क्रीन स्पेस दे पाना रूसो बदर्स की काबिलियत को रिडिफाइन करता है जिसके लिए उनकी तारीफ की जानी चाहिए.

सुपरहीरोज़ की ये फिल्म जिसमें मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स के लगभग सभी हीरोज़ को जगह दी गई है, दरअसल ये फिल्म इन हीरोज़ की नहीं बल्कि फिल्म के विलेन थानोस (जॉश ब्रोलिन) की है. फिल्म के पहले सीन से लेकर अंत तक हर सुपरहीरो के साथ जो एक कैरेक्टर दिखता है वो है थानोस. दो घंटे 40 मिनट की फिल्म में लगभग हर पांच मिनट बाद स्क्रीन पर ये पर्पल विशालकाय शख्स (थानोस) सामने आ जाता है. वो इतना क्रूर है जितना सोचा भी नहीं जा सकता. ये ऐसी सुपरहीरो फिल्म है जहां सुपरहीरोज़ असहाय और मजबूर नजर आते हैं  और ये सब हो रहा है थैनोस के कारण. थानोस वो है जो मार्वल के सबसे पावरफुल हीरो थॉर (क्रिस हैम्सवर्थ) को लाचार कर देता है. बहरहाल यहां फिल्म को लेकर कोई स्पॉयलर देना मकसद नहीं है, तो बस इतना समझ लीजिए की थानोस वो है जो अबतक का कोई भी विलेन नहीं बन पाया.  वो बुरा नहीं, बहुत बुरा है.

 

फिल्म  का ओपेनिंग सीन ही काफी डार्क है. थानोस एक प्लैनेट बर्बाद कर चुका है. यहां उसका संवाद लोकी (टॉम हिडलसन) के साथ होता है. वही लोकी जिसे आपने थॉर में देखा है. थैनोज़ जिसे इस ब्रह्मांड में सबसे पावरफुल बनना है उसके लिए लोकी का या डॉयलॉग ‘you can never be a GOD’ फिल्म के पहले ही सीन को इतना जबरदस्त बना देता ही की सिनेमा हॉल तालियों से गूंज पड़ता है.

 

प्लॉट 

हर सुपरहीरो फिल्म की तरह यहां भी सुपरहीरो दुनिया को बचाने के लिए इकट्ठा हुए हैं.  इस बार दुनिया को बचाने के लिए सुपरहीरोज़ को इनफिनिटी स्टोन बचाने हैं.  थानोस (जॉश ब्रोलिन) आधे यूनिवर्स के लोगों को खत्म करना चाहता है. ऐसा करने के पीछे उसका लॉजिक ये है कि दुनिया में लिमिटेड रिसोर्स हैं जब लोग ज्यादा होते हैं तो भी रिसोर्सेस सीमित रहते हैं और ऐसे में ये दुनिया का स्वरुप बिगड़ रहा है. लोगों के जीवन जीने का तरीका इससे प्रभावित होता है. थैनोज के पास इसका सॉल्यूशन है. वो आधे यूनिवर्स के लोगों को खत्म करना चाहता है ताकि उतने ही लोग जिंदा रहे जिनके लिए ये रिसोर्सेस उपलब्ध हों. वो लोगों को मार कर आने वाली जेनरेशन के लिए बेहतर दुनिया  बनाना चाह रहा है.

ऐसा करना उसके लिए तब संभव होगा तब उसके पास इनफिनिटी स्टोन होंगे. पूरे ब्रह्मांड में कुल छह इनफिनिटी स्टोन हैं जिससे दुनिया में सबकुछ मतलब सबकुछ कंट्रोल किया जा सकता है. ये इनफिनिटी स्टोन मिलने के बाद इस यूनिवर्स को तबाह करना चुटकी बजाने जितना आसान हो जाएगा. थानोस को ये इनफनिटी स्टोन किसी भी कीमत पर चाहिए.  कुल 6 में से 2 इनफिनिटी स्टोन धरती पर हैं जिसके लिए उसे धरती पर आना है. धरती पर ही सुपरहीरोज़ की एक फौज है जिसे निक फ्यूरी ने बनाया है इस टीम को ही एंवेंजर्स कहते हैं.  इनफिनिटी स्टोन की खोज में थानोस धरती पर आता है और एंवेंजर्स को थानोस को अपने मकसद में कामयाब होने से रोकना है.  थानोस दुनिया को खत्म कर सकता है और एवेंजर्स ऐसा होने नहीं देंगे. ये लड़ाई इसबार आसान नहीं है. अकेला थानोस और उसका इनफिनिटी स्टोन वाला हाथ सभी सुपरहीरोज़ पर भारी है.

 

इस बार एवेंजर्स की टीम बड़ी रहो गई है जिसमें आयरन मैन (रॉबर्ट डाउनी जूनियर) , कैप्टन अमेरिका (क्रिस इवान), थॉर (क्रिस हेम्सवर्थ) ,हल्क (माक्क रफेलो), ब्लैक वीडो (स्कार्लेट जॉनसन), डॉक्टर स्टेंज (बैनेडिक्च  कंबरबैच), स्पाइडर मैन (टॉम ओलांद), विजन (पॉल बैटेनी), गमोरा (जो सैलडेना) , नेब्यूला (कैरेन गिलैन), स्टार लॉर्ड (क्रिस प्रैट) और भी कई लोकप्रिय मार्वल सुपरपावर हीरोज़ शामिल हैं.

इस फिल्म का स्पॉयलर देना सही नहीं होगा लेकिन एक बात जो मन में खटकती है वो है फिल्म  का अंत. फिल्म ऐसी जगह खत्म होती है जो आपको परेशान और सन्न कर देगी. इसके लिए अंग्रेजी के दो शब्द जो मेरे मन में फिल्म देखते वक्त आए वो थे bizarre, Unpredictable. फिल्म जिस मोड़ पर खत्म होती है उसका अंदाजा लगाया ही नहीं जा सकता. ये ही फिल्म को बेहतर भी बनाता है और कई मायनों में फिल्म को बीच में ही छोड़ देता है. ये अंत आखिर है क्या ये आप सिनेमा हॉल में जाकर खुद देखिए.

डायरेक्शन

 

रुसो बदर्स ( एंटोनी रुसो, जो रुसो) ने एवेंजर्स: इनफिनिटी  वॉर को भव्य बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. सुपरहीरोज़ की फिल्में पहले से ही कई उम्मीदों के बोझ तले दबी होती है और जब ये फिल्म एवेंजर्स  फ्रेंचाइजी का हिस्सा हो तो उम्मीदें और बढ़ जाती है. एक फिल्म में कई बड़े सुपरहीरोज़ का होना और सभी के फैंस को खुश करते हुए उन्हें स्क्रीन पर अच्छे सीन और डॉयलॉग दे पाना एक कठिन काम है लेकिन रुसो बदर्स इस टास्क में लगभग सफल रहे हैं. ये दोनों भाई इससे पहले साल 2016 में आई, कैप्टन अमेरिका: सिविल वॉर’ और 2014 मे आई  ‘कैप्टन अमेरिका: विंटर सोल्जर’ जैसी फिल्मों का डायरेक्शन कर चुके  हैं.

 

फिल्म में कई सारे स्पेस, दूसरे प्लैनेट के सीन दर्शाए गए हैं और इन सीन को इतनी खूबसूरती ये परदे पर दिखाया गया है कि हर मार्वल फैन इसके लिए रुसो ब्रदर्स और सिनोमेटोग्राफर ट्रेंट ओपेलोच को थैंक्यू कहना चाहेगा. एवेंजर्स का जिक्र हो और फाइट/वॉर सीक्वेंस का जिक्र ना हो ये उतना ही इंपॉसिबल है जितना बिना चीनी के मिठाई.  फिल्म के फाइट सीन इतने जबरदस्त है कि आप कई जगह खुद को ताली बजाता या वॉव कहता पाएंगे.  फिल्म को देखते वक्त इस बात का खास ख्याल रखें कि पलकें भी ना झपकें. महज पलकों के झपकने से कही आप बहुत कुछ मिस कर सकते है. डायरेक्शन का सबसे बड़ा हासिल ये भी है कि इतनी लंबी फिल्म बोर कहीं भी नहीं करती.

 

कमियां

 

”एवेंजर्स: इनफिनिटी वॉर’ की बस एक ही कमी है कि इसके कई फाइट सीक्वेंस प्रीडिक्टेबल हो जाते हैं. दर्शक के तौर पर आपको पता चल जाना थोड़ा खल जाता है लेकिन इससे वह सीन बोर बिलकुल भी नहीं होता. ऐसे में इस कमी को नजरअंदाज किया जा सकता है.

 

एक्टिंग

 

एवेंजर्स में हॉलीवुड के टॉप एक्टर्स हैं तो ऐसे में बेहतरीन अभिनय इस फिल्म में दिखना लाजमी है. लेकिन कुछ बड़े नाम उम्मीद के मुताबिक फिल्म में नजर नहीं आते. ब्लैक वीडो के किरदार में स्कार्लेट जॉनसन फिल्म में गायब सी दिखी हैं. वजह ये भी है कि उन्हें कोई दमदार डायलॉ़ग या सोलो एक्शन सीन नहीं मिला है. ब्लैक पैंथर के किरदार में चैंडविक बोज़मैन ने भी स्क्रीन पर कुछ ऐसा नहीं किया है जिसे फिल्म खत्म होने के बाद भी याद रखा जा सके.

एक्टिंग के मामले में थानोस का किरदार निभाने वाले जॉश ब्रोलिन का कोई जवाब नहीं है. इस सुपर विलेन के किरदार को उन्होंने इस कदर निभाया है कि हॉल से निकलने के बाद अगर कुछ सबसे ज्यादा दिमाग में रह जाता है तो वो है थानोस. इस कैरेक्टर को इतना असरदार जॉश ने बनाया है कि उसकी मौजूदगी डरा देती है. थानोस का पहला डायलॉग ही बेहद जबरदस्त है. थानोस फिल्म में अपनी एंट्री के वक्त वह लोगों की लाश पर चलता हुआ कहता है  “You may think this is suffering. No: It’s salvation.” इस डायलॉग से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वो कितना भयानक है. आपकी सोच में एक डिक्टेटर जितना बुरा हो सकता है थानोस उससे भी बुरा है और उसे परदे पर लेकर आए हैं जॉश ब्रोलिन जिसके लिए उनकी जितनी तारीफ की जाए कम होगी.

 

टोनी स्टार्क मॉर्वल सीरिज तका सबसे बड़ा और अक्लमंद नाम है. टोनी स्टार्क के किरदार में रॉबर्ट डाउनी जूनियर ने हरबार कि तरह बेहतरीन अभिनय किया है. टोनी स्टार्क के मजेदार डॉयलॉग और आंखों के साथ खेलकर उसके डायलॉग इस इंटेंस फिल्म में भी खूब हंसाते हैं. और ये फनलिमेंट वो इस लिए फिल्म में जोड़ पाते हैं क्योंकि उन्हें फिल्म में भरपूर सीन दिए गए हैं.  डॉक्टर स्ट्रेंज ने इस बार एंवेंजर्स सीरीज में डेब्यू किया है. ये किरदार निभा रहे बैनेडिक्च  कंबरबैच ने फिल्म के कई सीन में जान फूंक दी है. जिस फीमेल एक्टर को इस फिल्म में सबसे ज्यादा जगह मिली है वो हैं गमोरा का किरदार निभाने वाली जो सैलडेना. सैलडेना ने फिल्म के कई हिस्सों को अकेले खींचा है.

इस फिल्म में आयरमैन, डाक्टर स्ट्रेंज, थॉर, कैप्टन अमेरिका, गमोरा और जाहिर तौर पर थानोस  सबसे ज्यादा नजर आए हैं. फिल्म में  ये सुपरहीरोज़  के फैंस सबसे ज्यादा हॉल से सटिसफाई होकर लौटेंगे.

 

क्यों देखें/ना देखें

 

एवेंजर्स: इनफिनिटी वॉर के लिए क्यों ना देखें जैसा सवाल होना ही नहीं चाहिए. इस फिल्म को जरुर देखें. हां अगर संभव होतो तो इसे एक से ज्यादा बार भी देख सकते हैं. फिल्म का हिंदी डब देखना भी बेहतरीन होगा. टोनी स्टार्क जो हिंदी में करते हैं वो हर अंग्रेजी भाषियों को भी देखना चाहिए. ‘इनफनिटी वॉर’ को भारत में हिंदी में प्रमोट किया गया. इसके दो ट्रोलर हिंदी में आए जो काफी मजेदार रहे.

About Todays news.com

मुझे बचपन से पड़ने लिखने का शोक हे मुझे रोज की खबरों से नियमित रूप से रूबरू होना ओर लोगो को जागरूक करना अच्छा लगता हे में अपनी इस आदत के जरिये लोगो को आधुनिक जानकारी यो रूबरू करवाऊंगा

View all posts by Todays news.com →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *